COVID-19 Update - This is to inform you that the Government of India has announced a complete lockdown in India 22nd March 2020 to 14th April 2020. As a result, our offices will now be closed till 14th April 2020 and all our employees will be working from home. Office telephones will not be answered, and therefore you are requested to direct all your queries related to manuscript submission, review process, publication etc. at below mentioned details. editor@innovativepublication.com, rakesh.its@gmail.com, Mob. 8826373757, 8826859373, 9910947804



Innovative Publication Books




प्रकृति तथा योग की शरण

  • Author Name : सेवक जगवानी
  • ISBN : 978-93-88022-27-9
  • Pages : 140
  • Paper Type : Soft Bound
  • Specialty : योग
  • Publication Year : 2019
  • Book Type : Reference Book
  • Edition : First
  • Language : Hindi
  • Offer Price   180 MRP   200  10% off for India

  • ADD TO CART

About Book

About Author

श्री सेवक जगवानी का जन्म 30 मार्च, 1947 को बृजधाम श्री वृन्दाबन, जिला मथुरा (उत्तर प्रदेश) में हुआ। आपकी शिक्षा वृन्दाबन, भोपाल एवं विदिशा में हुई। सन् 1969 में आपने विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन से बी.ई. (सिविल) की डिग्री प्राप्त की। आप भारत सरकार, केन्द्रीय जल आयोग, आर. के. पुरम, नई दिल्ली से लगभग साढ़े छत्तीस वर्ष की शासकीय सेवा करने के पश्चात् निदेशक के पद से 31 मार्च, 2007 को सेवानिवृत्त हुए। सेवानिवृत्ति के पश्चात् आपने अपना सम्पूर्ण जीवन सुप्रसिद्ध प्राकृतिक चिकित्सक, महान संत, ब्रह्मलीन परमपूज्य श्री शेषाद्रि स्वामीनाथ जी की आज्ञानुसार मानव समाज सेवा में पूर्णतया समर्पित कर दिया है। प्राकृतिक चिकित्सा एवं योगाभ्यास पर आपकी वार्ता को अनेकों बार आकाशवाणी पर भी प्रसारित किया गया है। आप सभी से अनुरोध करते हैं कि अपनी आयु, स्वास्थ्य स्तर एवं क्षमता के अनुसार चिकित्सकीय परामर्श के साथ-साथ सात्त्विक शाकाहार, नियमित योगाभ्यास एवं व्यायाम द्वारा यथासम्भव शारीरिक एवं मानसिक रूप से प्राकृतिक नियमों की अनुपालना करते हुए सदैव स्वस्थ, प्रसन्न, संतुष्ट एवं शान्तमय जीवन व्यतीत करें।





49

Total No of Journals

10452

Published Papers

43227

Manuscript Submission

1810000

Articles Downloaded

5010125

Articles
Viewed